नौकरी छोड़कर अपना बिज़नेस कैसे शुरू करें?

बिज़नेस कैसे शुरू करें? यह अक्सर देखा गया है कि नौकरी करने वाले अपनी नौकरी से संतुष्ट नहीं होते और किसी स्वरोज़गार की तलाश में रहते हैं, शायद किसी व्यवसाय का मालिक बनने की चाह अथवा स्वरोज़गार की चुनोतियों से वो अनभिज्ञ होते हैं।

बिज़नेस कैसे शुरू करें?

यह अक्सर देखा गया है कि नौकरी करने वाले अपनी नौकरी से संतुष्ट नहीं होते और किसी स्वरोज़गार की तलाश में रहते हैं, शायद किसी व्यवसाय का मालिक बनने की चाह अथवा स्वरोज़गार की चुनोतियों से वो अनभिज्ञ होते हैं।

अगर आप स्वरोज़गार या स्टार्टअप में आने वाली चुनौतियों से भली भाँती परिचित हैं लेकिन फिर भी आपमें कुछ कर गुजरने का जूनून है तो ही आप को अपना व्यापार या स्टार्टअप शुरू करना चाहिए।

आपके लिए चुनौतियां कई गुना बढ़ जाती है यदि आप शादी-शुदा हैं और अपनी अच्छी भली नौकरी छोड़ कर कोई नया व्यवसाय करने की सोचते हैं। इस परिस्तिथि में आपके अकेले का निर्णय नहीं होता बल्कि पूरे परिवार के सहयोग की आवश्यकता होती है। आपको अपने परिवार को आश्वस्त करना होता है कि आप नौकरी छोड़ कर कोई गलती नहीं करने जा रहे हैं ।

स्वरोज़गार या बिज़नेस करने के लिए सर्वप्रथम आपमें कुछ आवश्यक गुणों का होना जरुरी है –

  • काम के प्रति जूनून
  • धैर्य
  • होंसला
  • जोखिम लेने की क्षमता
  • अपने काम की पूरी जानकारी


अगर आप नौकरी छोड़ कर खुद का व्यवसाय करना चाह रहे हैं तो सर्व प्रथम अपने आप से पूछिए क्या चीज़ आपको इसके लिए प्रेरित करती है? यदि आपका जवाब “पैसा” है तो आप रुकिए और फिर सोचिये क्योकि अगर आप सिर्फ पैसे की चाह में कोई व्यवसाय शुरू करना चाह रहे हैं तो आपका यह निर्णय गलत भी हो सकता है।

कोई भी व्यवसाय करने के लिए जूनून की आवश्यकता होती है और जब आप पूरे जूनून और मेहनत से कार्य करते हैं तो पैसा अपने आप आने लगता है।

अब आपने सारे विचार-विमर्श के बाद यदि बिज़नेस का निर्णय ले ही लिया है तो नौकरी में रहते हुए ही आपको सारी योजनाए बनानी होगी।

आपको नौकरी के साथ-साथ अपने शुरू किये जाने वाले व्यवसाय के बारे में पूरी जानकारी जुटा लेनी चाहिए जैसे मार्किट रिसर्च, कानूनी जरूरते एवं रजिस्ट्रेशन, वित्तीय प्रबंध कैसे होगा इत्यादि।

पैसा कमाना, बचाना और निवेश के तरीके जिन्हें अनदेखा न करें।

मार्केट रिसर्च

सबसे पहले कोई भी business idea दिमाग में स्पष्ट होना चाहिए कि आप क्या करना चाहते हैं।

फिर आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि क्या आपके द्वारा किये जाने वाले बिज़नेस में सफलता की क्या संभावनाएं हैं? अगर इस तरह को कोई बिज़नेस पहले से चल रहा है तो आपको यह सोचना होगा की आप ऐसा क्या अलग कर सकते हैं जिससे आपकी सर्विस/उत्पाद की मांग पैदा हो?

यह शोध करना भी जरुरी है कि आपका उत्पाद या सेवा किस तरह के कस्टमर के लिए है ? साथ ही अपने संभावित प्रतिस्पर्धी के बारे में भी जानकारी जुटा लेना अच्छा होता है।

प्लानिंग

किसी भी बिज़नेस को करने से पहले यह सबसे अहम् तैयारी मानी जाती है। सबसे पहले किसी भी व्यवसाय के विचार को वास्तविकता बनाने के लिए एक योजना की आवश्यकता है। Business planning एक खाका है जो आपके व्यवसाय की स्थापना और अंततः व्यवसाय वृद्धि के के लिए मार्गदर्शन करेगा, और यह सभी नए व्यवसायों के लिए जरूरी है।

विभिन्न तरह के business के लिए अलग-अलग प्रकार की planning होती है। आप किसी professional से भी इसे बनाने में सहायता ले सकते हैं।

अगर किसी वित्तीय संसथान या बैंक से आर्थिक सहायता लेनी है तो पूरी project report बनाना आवश्यक है।

वित्तीय योजना

एक छोटे से व्यवसाय को शुरू करने के लिए बहुत अधिक धन की आवश्यकता नहीं होती है, लेकिन इससे पहले की व्यवसाय मुनाफा देना शुरू करे इसमें कुछ शुरुआती निवेश के साथ-साथ चल रहे खर्चों को कवर करने की क्षमता होने चाहिए।

लगभग 12 महीने का खर्च चलने के लिए वित्त प्रबंधन होना जरुरी है। जब वित्तीय आवश्यकता का अनुमान स्पष्ट हो जाता है तब विभिन्न तरीके से व्यवसाय चलने के लिए धन का प्रबंध किया जा सकता है।

  • पारिवारिक ऋण या स्वयं की बचत
  • लघु व्यवसाय ऋण
  • लघु व्यवसाय अनुदान
  • एंजेल इन्वेस्टर
  • जन-सहयोग crowdfunding

व्यवसाय संरचना Business structure

एक छोटा व्यवसाय एकल स्वामित्व sole proprietorship, भागीदारी व्यवसाय a partnership, a limited liability company (LLC) or a corporation कुछ भी हो सकता है।

आप एक प्रारंभिक व्यावसायिक संरचना चुन सकते हैं, और फिर आपके व्यवसाय के बढ़ने और परिवर्तन की आवश्यकता के अनुसार अपनी संरचना का पुनर्मूल्यांकन और परिवर्तन कर सकते हैं।

आपके व्यवसाय की जटिलता के आधार पर, आप अपने व्यवसाय के लिए सही संरचना विकल्प सुनिश्चित करने के लिए एक वकील या CA से परामर्श ले सकते हैं।

व्यवसाय नाम और पंजीकरण

व्यवसाय का नाम व्यवसाय के लगभग हर पहलू में भूमिका निभाता है, इसलिए नाम रखने के लिए विभिन्न पहलुओं का ध्यान रखा जाना जरुरी है। नाम ऐसा हो जो रखा जा सके, आपके व्यवसाय की झलक उसमें नज़र आये।

एक बार जब आप अपने व्यवसाय के लिए एक नाम चुन लेते हैं, तो आपको यह जाँचने की आवश्यकता होगी कि यह ट्रेडमार्क है या वर्तमान में उपयोग में है। अच्छा हो इसे ट्रेडमार्क पंजीकरण के लिए आवेदन कर दें ताकि भविष्य में कोई इसका गलत फ़ायदा न उठा सके।

इंटरनेट के युग में अपने व्यवसाय का डोमेन पंजीकृत करवा लेना भी जरुरी है।

लाइसेंस और परमिट

अपने व्यवसाय को शुरू करने से पहले आवश्यकता के अनुसार विभिन्न सरकारी लाइसेंस, अनापत्ति प्रमाण पत्र और अनुमति लेना भी अति आवश्यक है।

लेखा प्रणाली Accounting System

बजट बनाने और प्रबंधित करने, अपनी दरें और कीमतें निर्धारित करने, दूसरों के साथ व्यापार करने और अपने करों को दर्ज करने के लिए लेखांकन प्रणाली आवश्यक है। आप अपने लेखांकन प्रणाली को स्वयं स्थापित कर सकते हैं, या कुछ अनुमान लगाने के लिए एक एकाउंटेंट को नियुक्त कर सकते हैं।

व्यवसाय के लिए स्थान चयन

शुरुआत में अपने व्यवसाय की आवश्यकता के अनुसार कम से कम बजट में कोई किराये का स्थान चुना जा सकता है। अगर वित्तीय संसाधन उपलब्ध है तो लीज पर भी लिया या खरीद भी सकते हैं। स्थान ऐसा होना चाहिए जहाँ आने जाने के लिए पर्याप्त साधन उपलब्ध हो। स्थान चयन होने के बाद अन्य आवश्यकताएं जैसे फर्नीचर, मशीनों के बारे में सोचना चाहिए।

अच्छी टीम बनायें

कोई भी व्यवसाय बिना अच्छे कर्मचारियों या भागीदार के बिना सफल नहीं हो सकता है। इसलिए शुरू करने से पहले एक अच्छी टीम बनाने पर ध्यान देना जरुरी है।

यदि आप कर्मचारियों को काम पर नहीं रखना चाहते, बल्कि स्वतंत्र ठेकेदारों को काम आउटसोर्स कर रहे हैं, तो एक अच्छे स्वतंत्र ठेकेदार को चुनना चाहिए।

यदि आप अकेले छोटे व्यवसाय की राह पर चलते हुए एक सच्चे सोलोप्रीनर हैं, तो आपको कर्मचारियों या ठेकेदारों की आवश्यकता नहीं होगी, लेकिन फिर भी आपको अपनी सहायता टीम की आवश्यकता होगी। इस टीम में एक संरक्षक, छोटे व्यापार कोच या यहां तक कि आपके परिवार के सदस्य शामिल हो सकते हैं।

मार्केटिंग योजना

व्यवसाय की प्रकृति के अनुसार अपनी सेवाएं या उत्पाद लोगों तक कैसे पहुंचेंगे इस बारे में प्लानिंग बनाना बहुत जरुरी है। एक बार जब मार्किट से प्रतिक्रियाएं आणि शुरू हो जाती है तब समय-समय पर अपनी योजनाओं में बदलाव लाना भी आवश्यक होता है। इस हेतु किसी professional की सहायता भी ली जा सकती है।

बिज़नेस कैसे शुरू करें शायद काफी सवालों के जवाब यहाँ मिल गए होंगे। इस तरह पूरी प्लानिंग से शुरू किया गए बिज़नेस के सफलता की सम्भावना भी ज्यादा होती है।

अंत में “बिज़नेस कैसे शुरू करें?” पूरी योजना के साथ

How to start a business

Leave a Reply