क्या मासिक धर्म कप (Menstrual cup) एक अच्छा विकल्प है?

मासिक धर्म कप (menstrual cup), मासिक धर्म में प्रयोग किये जाने वाले पर्यावरण के लिए नुकसान दायक सेनेट्री पेड्स और टैम्पूंस का एक बहुत ही अच्छा विकल्प है।

यह रबर या सिलिकॉन से बना एक छोटा, लचीला फ़नल-आकार का कप होता है जिसे मासिक धर्म स्राव को पकड़ने और इकट्ठा करने के लिए बनाया गया है। कप अन्य तरीकों पेड्स और टेम्पून की तुलना में अधिक रक्त धारण कर सकते हैं।

कितने सुरक्षित होते हैं menstrual cup?

एक चिकित्सीय आम सहमति के अनुसार इन्हे निर्देशित तरीके से प्रयोग किया जाए तो यह बहुत सुरक्षित माने जाते हैं।

क्योंकि मासिक धर्म के कप रक्त को अवशोषित करने के बजाय एकत्र करते हैं, इसलिए टेम्पून के उपयोग से जुड़ा एक दुर्लभ जीवाणु संक्रमण, विषाक्त शॉक सिंड्रोम (TSS) होने का खतरा नहीं रहता है।

कैसे प्रयोग करते हैं मासिक धर्म कप?

अगर कोई महिला पहले से टेम्पून प्रयोग करने की आदि है तो menstrual cup का प्रयोग करना आसान हो जाता है। एक कप का उपयोग करने के लिए बस इन चरणों का पालन किया जाना चाहिए –

  • सबसे पहले अपने हाथों को अच्छी तरह से धो लें। कप के रिम पर पानी या एक पानी आधारित चिकनाई लगाएं।
  • मासिक धर्म के कप को आधे से मोड़ें, इसे एक हाथ में रिम ​​के साथ पकड़ कर अपने अंदर डालें जैसे एक ऐप्लिकेटर के बिना एक टेम्पून का प्रयोग करते हैं ।
  • यह गर्भाशय ग्रीवा के नीचे कुछ इंच बैठना चाहिए। एक बार कप अंदर डालने के बाद इसे घुमाएं। यह एक एयरटाइट सील बनाने के लिए खुलेगा जो लीक को रोकता है।
  • यदि कप सही तरीके से डाला गया है तो मासिक धर्म कप अंदर महसूस नहीं होना चाहिए। यह अंदर इस तरह फिट होना चाहिए कि कप को बाहर निकाले बिना हर रोज चलने-फिरने, कूदने, बैठने, खड़े होने और अन्य गतिविधियों को करने में कोई परेशानी महसूस न हो। यदि आपको अपने कप को अंदर डालने में परेशानी हो रही है, तो अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

कप को कब बाहर निकालना चाहिए?

6 से 12 घंटे के लिए एक मासिक धर्म कप पहना जा सकता हैं। यह इस बात पर निर्भर करता है कि स्राव का प्रवाह कितना है। रात भर सुरक्षा के लिए एक कप का उपयोग किया जा सकता हैं।

हमेशा 12 घंटे में अपना मासिक धर्म कप निकाल लेना चाहिए। यदि यह इससे पहले भर जाता है, तो लीक से बचने के लिए इसे 12 घंटे से पहले खाली कर लेना चाहिए।

कप को शरीर से बाहर निकालने के बाद हमेशा साबुन से धो कर ही पुन: प्रयोग में लाना चाहिए।

कप अन्य उपायों की तुलना में कैसे बेहतर है?

सुरक्षा – यह कप आम तौर पर सुरक्षित होते हैं। बस यह ध्यान रखना जरुरी है कि उपयोग के बाद इसे अच्छी तरह से साफ़ कर सुरक्षित जगह पर रखें ताकि अगली बार प्रयोग में लाया जा सके।

कीमत – एक बार कप खरीदने की कीमत लगभग कम से कम 500 रूपए तक होती है जिसे उचित देखभाल के साथ रखने पर कम से कम 2-3 वर्षों या उससे भी अधिक समय तक आराम से प्रयोग किया जा सकता है। वहीँ 2-3 वर्षों तक पेड्स और टैम्पूंस का प्रयोग करने के लिए इससे कहीं ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ते हैं।

पर्यावरण के अनुकूल – पेड्स और टेम्पून जो एक बार प्रयोग के बाद फेंक दिए जाते हैं पर्यावरण के लिए नुकसानदायक होते हैं वहीँ कप पृथ्वी पर इस तरह का कचरा नहीं बढ़ाते इसलिए इन्हे पर्यावरण के अनुकूल (sustainable) माना गया है।

उपयोग में आसानी – कप का प्रयोग पेड्स जितना आसान तो नहीं है लेकिन टेम्पून के प्रयोग करने जैसा ही है। शुरू में इसे प्रयोग करने में थोड़ी समस्या आ सकती है लेकिन अभ्यास के साथ यह बहुत आसान हो जाता है।

धारण क्षमता – कप में किसी भी पेड्स या टेम्पून की तुलना में ज्यादा रक्त धारण करने की क्षमता होती है। अधिक स्राव के समय भी इसे लगभग 12 घंटे तक बदलने की जरूरत नहीं पड़ती, वहीँ पेड्स या टेम्पून को 5-6 घंटों में बदलना ही पड़ता है।

सही कप का चुनाव कैसे करें?

छोटा कप आमतौर पर 30 से कम उम्र की महिलाओं जिन्होंने बच्चे को जन्म न दिया हो और जिनके मासिक स्राव की मात्रा कम होती है उनके लिए उचित होता है। वहीँ 30 से ज्यादा उम्र की महिलाएं जो बच्चे को जन्म दे चुकी हों या जिनके स्राव की मात्रा ज्यादा होती है उन्हें अपेक्षाकृत बड़े कप की जरुरत पड़ती है।

इसके अतिरिक्त pelvic floor muscles की दृढ़ता के अनुसार कप कितना soft या hard हो यह निर्धारित किया जाता है।

मासिक धर्म कप के क्या नुकसान हो सकते हैं ?

कप किसी भी पेड्स या टेम्पून से कहीं बेहतर होने के बावजूद कभी-कभी कुछ परेशानी भी पैदा कर सकता है।

ऐसी परिस्थिति में जब कप खाली करने की जरूरत हो लेकिन कोई उपयुक्त स्थान न मिले तो यह असुविधाजनक हो सकता है।

पर्याप्त अनुभव न होने से कप लगाने और निकलने में असुविधा हो सकती है।

सही size का कप नहीं होने पर भी कप असुविधाजनक लगता है।

कप सामान्यत: सिलिकॉन या रबर के बने होते हैं और किसी को सिलिकॉन या रबर से एलर्जी हो तब उस स्थिति में कप परेशानी पैदा कर सकते हैं। अगर कप की सफाई अच्छी तरह से नहीं की गयी हो तब भी संक्रमण का खतरा हो सकता है।

यदि कोई महिला पहली बार कप का प्रयोग कर रही है तो उसके दिमाग में कई तरह के प्रश्न व शंकाएं हो सकती है। अगर प्रश्नों व शंकाओं का सही समाधान न मिले तो चिकित्सक से अवश्य परामर्श लेना चाहिए।

अगर आप कप खरीदना चाहते है तो यह आसानी से ऑनलाइन उपलब्ध है।

Buy Online Here

Leave a Reply