भारत में 10 सबसे ज्यादा पैसा देने वाली नौकरियां – एक नज़र

ज्यादा पैसा देने वाली नौकरियां ही सबसे ज्यादा युवाओं को आकर्षित करती है। केवल भारत ही नहीं, दुनिया भर के छात्र ऐसे करियर में रुचि रखते हैं, जो उच्च वेतन और अतिरिक्त भत्ते और लाभ प्रदान करते हैं।

एक उच्च भुगतान करने वाली नौकरी न केवल वित्तीय सुरक्षा की भावना प्रदान करती है अपितु यह एक अच्छी जीवन शैली और अच्छी सामाजिक स्थिति का आनंद लेने में भी मदद करती है। यहाँ हम एक नज़र डालेंगे कि भारत में सबसे ज्यादा पैसा देने वाली नौकरियां कौन-कौनसी है?

ज्यादा पैसा देने वाली नौकरियां सरकारी और निजी दोनो ही क्षेत्र में उपलब्ध है।

यहाँ एक बात महत्वपूर्ण है कि यहाँ जो भी उच्च वेतन वाली नौकरियां का जिक्र है उनमें वेतन समय और योग्यता के अनुसार भिन्न-भिन्न हो सकता है।

इसके अतिरिक्त किसी भी क्षेत्र में उच्च वेतन पाने के लिए अच्छे कार्य , योग्यता और उच्च्च कौशल का होना भी जरुरी होता है।

अच्छा वेतन काम करने वाले संस्थान पर भी निर्भर करता हैं। ज्यादा प्रतिष्ठित संस्थान में वेतन एक सामान्य संस्थान के मुकाबले अधिक होता है।

चिकित्सा क्षेत्र (Medical)

भारत में अधिकांश डॉक्टर अच्छी कमाई करते हैं। इसका मुख्य कारण भारत में चिकित्सकों की भारी कमी होना है। 2017 के सरकारी आंकड़ों के हिसाब से माने तो आज भारत में प्रति 1000 व्यक्ति केवल 1.5 डॉक्टर्स ही उपलब्ध हैं। WHO के norms के अनुसार यह ठीक है लेकिन अन्य देशों की तुलना में बहुत कम है।

काम डॉक्टर्स का होना समाज के लिए अच्छा तो नहीं कहा जा सकता लेकिन इसका सीधा फायदा चिकित्सा के पेशे को मिलता है , इसलिए डॉक्टर्स भारत में कमाई के मामले में बहुत आगे हैं।

विशेषकर MBBS करने के बाद किसी भी विषय में PG करने वाले विशेषज्ञों की मांग बहुत ज्यादा है और वेतन या कमाई भी अधिक है।

मर्चेंट नेवी जॉब्स (Merchant Navy)

मर्चेंट शिपिंग क्षेत्र हमेशा अपने यहाँ काम करने वालों को अच्छे वेतन पैकेज प्रदान करने के लिए जाना जाता है। लेकिन मर्चेंट नेवी सेक्टर के साथ समस्या यह है कि वे केवल सर्वश्रेष्ठ पुरुषों की भर्ती करते हैं! मर्चेंट नेवी में, अधिकारी स्तर के पद उच्च वेतन पैकेज के साथ आते हैं! जैसे- मरीन इंजीनियर, नेवीगेशन ऑफिसर, इलेक्ट्रो टेक्निकल ऑफिसर, कैप्टन इत्यादि उच्च वेतन वाले जॉब पोस्ट हैं।

मर्चेंट नेवी में उच्च पद और आकर्षक वेतन के लिए उच्च योग्यता होना भी बहुत जरुरी है। मर्चेंट नेवी में काम करने के लिए marine से जुड़े जैसे B.Tech/BE in marine engineering होना जरुरी है।

इसी से जुडी एक नौकरी मर्चेंट नेवी में भी बहुत आकर्षक वेतन और सुविधाएँ मिलती है। जो लोग साहसी जीवन और समुद्री यात्रा का नेतृत्व करने में रुचि रखते है उनके लिए इसे कैरियर के रूप में चुनना एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

इंजीनियर (Engineer)

वैसे तो इस क्षेत्र में बहुत ज्यादा saturation आ गया है लेकिन फिर भी इंजीनियरिंग की कुछ शाखाओं में बहुत अच्छी संभावनाएं हैं। विशेषकर आईआईटी, एनआईटी, बिट्स पिलानी आदि प्रतिष्ठित संसथान से डिग्री प्राप्त करने वाले छात्रों को ऊँचे वेतन पर नौकरी मिलने की अच्छी संभावनाएं होती है।

कुछ अच्छी इंजीनियरिंग शाखाओं से संबंधित पेशेवर बहुत मूल्यवान हैं और हमेशा मांग में रहते हैं। कुछ ऐसी शाखाएँ हैं- पेट्रोलियम इंजीनियरिंग, केमिकल इंजीनियरिंग, कोर इंजीनियरिंग शाखाएँ (मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल और सिविल इंजीनियरिंग), इंस्ट्रूमेंटेशन और कंट्रोल इंजीनियरिंग, मेक्ट्रोनिक्स इंजीनियरिंग आदि। इन शाखाओं से संबंधित नौकरियां उच्च वेतन वाली होती हैं।

उभरते और अपेक्षाकृत नए इंजीनियरिंग शाखाओं जैसे जेनेटिक इंजीनियरिंग, बायोटेक्नोलॉजी, कृषि सूचना प्रौद्योगिकी आदि से डिग्री प्राप्त करने वाले उम्मीदवारों की विदेशों में अत्यधिक मांग है। जबकि ये क्षेत्र अभी भी भारत में विकसित हो रहे हैं, कोई भी उपर्युक्त इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों को पूरा करने के बाद विदेशों में (विशेषकर अनुसंधान और विकास क्षेत्र में) उच्च वेतन वाली नौकरियां मिल जाती है।

कुछ प्रतिष्ठित सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों में भी इंजीनियर को उच्च वेतन की नौकरियां मिलती है।

संक्षेप में, इंजीनियरिंग क्षेत्र संतृप्त हो सकता है। लेकिन भारत में इस क्षेत्र में अभी भी कई उच्च भुगतान वाली नौकरियां मौजूद हैं। सही कौशल, योग्यता और कॉलेज डिग्री (एक अच्छे कॉलेज से) के साथ, एक सरकारी या निजी क्षेत्र में एक बेहतरीन कैरियर बनाया जा सकता है।

व्याख्याता (Lecturer)

शिक्षक राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। वे छात्रों को पढ़ाते और प्रशिक्षित करते हैं। निसंदेह स्कूल के शिक्षकों का वेतन कम होता है , लेकिन व्यावसायिक पाठ्यक्रम संचालित करने वाले कॉलेजों में शिक्षकों की अच्छी मांग है और उन्हें उच्च वेतन की पेशकश की जाती है। उनका सम्मान भी किया जाता है और वह समाज में महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं।

जब लेक्चरर की नौकरी की बात आती है, तो अनुभव बहुत मायने रखता है। नए लोगों की तुलना में अनुभवी लेक्चरर को अधिक वेतन दिया जाता है। कोचिंग क्लास भी लेक्चरर और इंस्ट्रक्टर को अच्छा पैकेज देते हैं। प्रवेश परीक्षा कोचिंग भी इन दिनों एक तेजी से बढ़ता हुआ व्यवसाय है। यदि कोई आवश्यक संसाधन और उद्यमिता कौशल रखता है, तो एक कोचिंग क्लास शुरू करने पर भी विचार कर सकता है।

कॉलेज लेक्चरर बनने का सबसे अच्छा तरीका है यूजी स्नातक की डिग्री और उसके बाद मास्टर डिग्री। उदाहरण के लिए, कोई B.E//B.Tech पूरा कर M.E./M.Tech कर सकता है। और मास्टर कोर्स के बाद एक कॉलेज व्याख्याता बन सकता है। यही बात B.Sc./M.Sc की डिग्री पर भी लागू होती है।

चार्टर्ड एकाउंटेंट(C.A.)

चार्टर्ड एकाउंटेंट्स (सीए) को इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) द्वारा आयोजित नवीनतम कैंपस प्लेसमेंट कार्यक्रम में एक साल में लगभग 7.36 लाख रुपये का औसत वेतन दिया गया, जिसमें उच्चतम वेतन 24.64 लाख रुपये था।

यह व्यवसाय सभी व्यवसायों का मूल है, चाहे वह बड़ा हो या छोटा। एक चार्टर्ड अकाउंटेंट के काम में ऑडिटिंग, टैक्सेशन, अकाउंटिंग और फाइनेंशियल प्लानिंग शामिल हैं। यह बहुत ही चुनौतीपूर्ण और फायदेमंद कॅरिअर हो सकता है।

चार्टर्ड अकाउंटेंसी करने के बाद कैरियर की संभावनाएं रोमांचक हैं। चार्टर्ड अकाउंटेंसी वित्त, निवेश परामर्श और फंड प्रबंधन में बेहतरीन कॅरियर का पहला कदम हो सकता है।

C.A. पाठ्यक्रम भारत के चार्टर्ड एकाउंटेंट्स संस्थान द्वारा संचालित किया जाता है, जिसका मुख्यालय नई दिल्ली, 5 क्षेत्रीय कार्यालयों (कलकत्ता, कानपुर, चेन्नई, मुंबई और नई दिल्ली) में है और इन क्षेत्रीय केंद्रों के अंतर्गत 81 शाखाएँ हैं।

प्रबंधन पेशेवर (Management Professionals)

एक प्रबंधन पेशेवर का वेतन मुख्यतया उसकी विशेषज्ञता के क्षेत्र, किया गया कोर्स और संसथान की प्रतिष्ठा जिससे कोर्स किया है पर निर्भर करता है। एमबीए डिग्रीधारियों की सबसे अधिक मांग है संस्थान में आईआईएम सबसे प्रतिष्ठित माना जाता है इसके अतिरिक्त , XLRI, FMS, ISB आदि से डिग्री प्राप्त करने वालों को भी उच्च वेतन पर नौकरियां मिल जाती है।

इस समय एचआर प्रबंधन, मीडिया प्रबंधन, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार, अस्पताल और स्वास्थ्य सेवा प्रबंधन, वित्त और कराधान जैसे क्षेत्रों में कुशल उम्मीदवारों की अच्छी मांग है और उन्हें आकर्षक पैकेज का प्रस्ताव भी मिलता है।

वास्तुकला (ARCHITECTS)

वास्तुकला इंजीनियरिंग का एक ऐसा क्षेत्र है जहाँ अभी भी कुशल इंजीनियर की बहुत मांग है। यह एक ऐसा क्षेत्र है जहाँ कोई आसानी से अपना व्यवसाय स्थापित कर सकता है। इस क्षेत्र में सफल होने के लिए रचनात्मकताऔर तकनीकी कौशल का होना आवश्यक है।

रचनात्मक और कुशल आर्किटेक्ट हमेशा मांग में रहेंगे। रुझानों में बदलाव के साथ, आर्किटेक्चर का क्षेत्र भी विकसित हो रहा है।
ऐसे नवीनतम रुझानों के साथ अद्यतित(update) रहने वाले आर्किटेक्ट अक्सर अपने ग्राहकों के लिए घरों और अन्य संरचनाओं को डिजाइन करने में बहुत व्यस्त रहते हैं।

वैज्ञानिक (Scientist)

हमारे देश का अनुसंधान और विकास क्षेत्र बहुत अच्छे से सुसज्जित है। इस समय जरूरत के अनुसार पर्याप्त योग्य वैज्ञानिकउपलब्ध नहीं हो रहे हैं। वैज्ञानिको की मांग इतनी अधिक है कि राज्य सरकारें मेधावी छात्रों के लिए छात्रवृत्ति की पेशकश कर रही है।

सरकार द्वारा शोध क्षेत्र में विशेष ध्यान देने के कारण इस क्षेत्र में कैरियर आर्थिक रूप से सुदृढ़ करने वाला बन सकता है।

सरकारी क्षेत्र के भीतर, ऐसे कई विभाग हैं जहाँ कोई वैज्ञानिक के रूप में काम कर सकता है। इनमें से कुछ सेक्टर हैं- डिफेंस, एग्रीकल्चर, फिशरीज, जेनेटिक्स, बायोटेक्नोलॉजी आदि। प्राइवेट सेक्टर जॉब्स की पर्याप्त मात्रा साइंटिस्ट्स के लिए भी उपलब्ध है, जैसे- हेल्थकेयर एंड फार्मास्यूटिकल्स, फूड प्रोसेसिंग और टेक्नोलॉजी आदि।

उड्डयन क्षेत्र (Aviation sector)

उड्डयन क्षेत्र में कई उच्चवेतन वाली नौकरियों उपलब्ध है। कमर्शियल पायलट का काम सबसे ज्यादा वेतन वाला होता है।

यह एक ऐसा काम है जिसके बारे में अधिकांश लोग बचपन में सपने देखते हैं। उड़ान के बारे में सोचना मात्र इस काम को एक सपना बना देता है। यह करियर आर्थिक रूप से भी बहुत फायदेमंद है।

कुछ साल पहले मंदी से उड्डयन उद्योग बुरी तरह प्रभावित हुआ था। इतनी बुरी स्थिति थी कि कई लोगों की नौकरियां चली गईं और कई कंपनियां दिवालिया हो गईं थी लेकिन लम्बी अवधि में अच्छी नौकरियों की काफी ज्यादा संभावनाएं हैं।

ज्यादा पैसा देने वाली सरकारी नौकरियां

सिविल सेवा और प्रशासन से संबंधित नौकरियां जैसे- IAS, IRS, IFS, IPS आदि ग्लैमरस होने के साथ-साथ आकर्षक वेतन वाली भी हैं। लेकिन उन नौकरियों को पाने के लिए, किसी को भी कठिन सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है। ये नौकरियां राष्ट्र निर्माण में भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। इन नौकरियों के मामले में चयन प्रक्रिया बेहद कठिन होती है।

पीएसयू जैसे ओएनजीसी, बीएचईएल, सेल, बीईएल, बीपीसीएल, सीसीएल, सीआईएल, गेल, एचईसी, एचएएल, एचपीसीएल आदि भी उच्च वेतन वाली नौकरियों की पेशकश के लिए जाने जाते हैं। भारतीय रेलवे, राज्य सेवा निकाय आदि जैसे केंद्र सरकार के निकाय भी उच्च वेतन वाली नौकरियों की पेशकश करते हैं।

आमतौर पर, यह उच्च रैंक / ग्रेड अधिकारी जैसे इंजीनियर और प्रशासनिक भूमिकाएं होती हैं, जिन्हें उच्च वेतन पैकेज मिलते हैं। निम्न-श्रेणी के पदों में अभी भी एक अच्छा वेतन है। अच्छे वेतन पैकेज के साथ, कर्मचारियों को अतिरिक्त लाभ भी मिलते हैं जैसे- भत्ते, ऋण (ब्याज मुक्त या कम ब्याज), रियायती आवास, चिकित्सा सहायता, यात्रा रियायतें आदि।

सशस्त्र बलों के विभिन्न प्रभागों में कमीशन अधिकारियों के पदों में भी अच्छा वेतन पैकेज है। हम सभी जानते हैं कि भारतीय सशस्त्र बलों के अधिकारियों का कितना सम्मान है। भारतीय सेना, भारतीय वायु सेना और भारतीय नौसेना के अधिकारियों को बहुत सम्मान दिया जाता है। उनका काम ग्लैमरस है, लेकिन एक ही समय में जोखिम भरा भी होता है। बीएसएफ और इंडियन कोस्ट गार्ड जैसे अन्य निकायों में अधिकारी पदों के लिए भी बहुत फायदे हैं।

पैसा कमाना, बचाना और निवेश के तरीके जिन्हें अनदेखा न करें।

इनके अतिरिक्त भी भारत में बहुत सी ज्यादा पैसा देने वाली नौकरियां उपलब्ध है जहाँ आपकी शिक्षा, योग्यता और कौशल के अनुसार आपको भुगतान किया जाता है।

आज ही ढूंढें एक नौकरी

Leave a Comment